Budget 2020

मार्केट और बजट

मार्केट और बजट में और पढ़ें

बजट पर विवरण

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करेंगी. यह उनका दूसरा बजट होगा. इस बजट से काफी उम्मीदें हैं. सीतारमण बजट में अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के उपायों का एलान कर सकती हैं. संसद का बजट सत्र दो चरणों में होगा. पहला चरण 31 जनवरी से शुरू होगा और 11 फरवरी तक चलेगा. दूसरा चरण 2 मार्च से शुरू होगा और 3 अप्रैल तक चलेगा. 31 जनवरी को बजट सत्र के पहले दिन आर्थिक सर्वेक्षण पेश होगा. हर साल बजट से ठीक पहले आर्थिक सर्वेक्षण पेश होता है. सीतारमण के दूसरे बजट से उद्योग, शेयर बाजार से लेकर आम आदमी तक को काफी उम्मीदें हैं. मध्यम वर्ग को आयकर में राहत की उम्मीद है. वित्तमंत्री सेक्शन 80सी के तहत टैक्स बचत के लिए मौजूदा 1.5 लाख रुपये की निवेश सीमा को बढ़ाने का एलान कर सकती हैं. शेयर बाजार लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स में छूट चाहता है. 2018 में पेश बजट में इसका एलान किया गया था. वित्त मंत्री पर अर्थव्यवस्था में मांग बढ़ाने की भी चुनौती है. मांग बढ़ने से अर्थव्यवस्था की रफ्तार तेज करने में मदद मिलेगी. अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर लगातार घट रही है. इस वित्त वर्ष के दौरान जून तिमाही में यह 5 फीसदी थी. सितंबर तिमाही में यह घटकर 4.5 फीसदी पर आ गई. ऐसे में वित्त मंत्री अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर बढ़ाने वाले उपायों का एलान कर सकती हैं. सीतारमण ने पिछले साल 1 जुलाई को अपना पहला बजट पेश किया था.

हमें फॉलो करें


ईटी ऐप हिंदी में डाउनलोड करें


Copyright © 2019 Bennett, Coleman & Co. Ltd. All rights reserved. For reprint rights: Times Syndication Service

BACK TO TOP