The Economic Times
English EditionEnglish Editionहिन्दी
| E-Paper
Search
+
    hi

    चिकन और अंडे की बिक्री बढ़ी, मार्च तक प्री-कोविड स्तर तक पहुंचने की उम्मीद

    By
    ,
    अंडों की बिक्री बढ़ी
    1/5

    अंडों की बिक्री बढ़ी

    देश में चिकन और अंडे की बिक्री पटरी पर लौट रही है. इसके मार्च तक पूर्व-कोविड के स्तर तक पहुंचने की संभावना है. कोरोना काल में लॉकडाउन के चलते अंडों और चिकेन की बिक्री में भारी गिरावट आई थी.

    चिकन की मांग बढ़ी
    2/5

    चिकन की मांग बढ़ी

    गोदरेज एग्रोवेट के एमडी बीएस यादव ने कहा, "चिकन की बिक्री और उत्पादन लगभग 75 फीसदी तक पटरी पर लौट चुकी है. अंडे की बिक्री 80 फीसदी पर आ चुकी है. मार्च तक हम पूर्व-कोविड स्तर तक पहुंच जाएंगे. गोदरेज एग्रोवेट पशु आहार बनाने वाली कंपनी है. इसकी सहायक कंपनी गोदरेज टायसन फूड्स ताजा और फ्रोजन चिकन बेचती है.

    मार्च तक महंगा होगा चिकन
    3/5

    मार्च तक महंगा होगा चिकन

    सुरिंदर कुमार भूटानी ने कहा कि कुछ समय पहले तक हमें चिकन फेस्टीवल तक आयोजित करने पड़ रहे थे. इस दौरान चिकेन की कीमतें 80-90 रुपये किलो तक गिर गई थीं. लेकिन मांग बढ़ने से मार्च तक चिकेन की कीमतें 110-120 रुपये पहुंचने की संभावना है. अच्छे रिटर्न को देखते हुए किसानों ने भी धीरे-धीरे ब्रॉयलर और अंडे का उत्पादन शुरू कर दिया है.

    30 फीसदी महंगा हुआ अंडा
    4/5

    30 फीसदी महंगा हुआ अंडा

    भूटानी ने कहा कि बिक्री बढ़ने से कीमतें बढ़ी हैं. पिछले छह महीनों में अंडे की कीमतों में 30% की वृद्धि हुई है. सुगुन पोल्ट्री फार्म के अध्यक्ष बी सौर्दयाराजन ने कहा, "घर की खपत में अच्छी वृद्धि हुई है जो सर्दियों के महीनों में और बढ़ेगी."

    चिकन उत्पादकों का मार्जिन बढ़ा
    5/5

    चिकन उत्पादकों का मार्जिन बढ़ा

    ओडिशा और बिहार के अलग-अलग बाजारों में मक्का की कीमतें पिछले साल के 24 रुपये के उच्च स्तर से घटकर 14 रुपये से 17 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई हैं. इससे चिकन उत्पादकों का मार्जिन बढ़ा है.

    The Economic Times
    कंपनियांखोजें:
    X
    User