Never miss a great news story!
Get instant notifications from Economic Times
AllowNot now


You can switch off notifications anytime using browser settings.

ऋण

21 October, 2020, 06:51 AM IST
रिटायरमेंट के बाद भी होम लोन पा सकते हैं आप, ये 6 तरीके करेंगे मदद

को-एप्‍लीकेंट जोड़ने से कर्ज देने वाले संस्‍थान का जोखिम कम हो जाता है. यह कोई ऐसा व्‍यक्ति हो सकता है जिनकी स्‍थायी इनकम और अच्‍छा क्रेडिट स्‍कोर हो.

सरकार 15 नवंबर तक ब्‍याज पर ब्‍याज माफ करेगी, सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई 2 नवंबर को

जस्टिस अशोक भूषण के अध्‍यक्षता वाली तीन सदस्‍यों की पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है. इसके अन्‍य सदस्‍यों में जस्टिस आर सुभाष रेड्डी और एमआर शाह शामिल हैं.

आरबीआई ने बताया, किसे मिलेगा लोन रीस्‍ट्रक्‍चरिंग स्‍कीम का फायदा

आरबीआई ने स्पष्टीकरण में यह भी कहा कि 26 जून को प्रभावी सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यमों (एमएसएमई) की नई परिभाषा समाधान के लिए उनकी पात्रता को प्रभावित नहीं करेगी. यह रेजॉल्‍यूशन एक मार्च, 2020 तक मौजूद परिभाषा के आधार पर होगा.

पर्सनल लोन के लिए कैसे अप्‍लाई करें?

पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड लोन कैटेगरी में आते हैं. बैंक और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (एनबीएफसी) कई तरह की जरूरतों के लिए पर्सनल लोन देते हैं.

लोन मोरेटोरियम : ब्‍याज पर ब्‍याज मामले में अब सुप्रीम कोर्ट 14 अक्‍टूबर को करेगा सुनवाई

इसके पहले 5 अक्टूबर को शीर्ष न्‍यायालय ने इससे जुड़े सभी हलफनामों को 12 अक्‍टूबर तक दाखिल करने का समय दिया था.

राज्यों को ₹12,000 करोड़ का ब्याज-मुक्त कर्ज देगी केंद्र सरकार, यह हाेगा मकसद

सीतारमण ने बताया कि 12,000 करोड़ रुपये की राशि में से 1,600 करोड़ रुपये पूर्वोत्तर राज्यों को और 900 करोड़ रुपये उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश को दिए जाएंगे.

ब्रिज लोन क्‍या है, इसे कैसे ले सकते हैं आप?

ब्रिज लोन शॉर्ट-टर्म लोन होता है. यह सिक्‍योर्ड लोन है. यानी इसमें गारंटी की जरूरत पड़ती है. इसे गैप फाइनेंसिंग लोन भी कहा जाता है.

आरबीआई ने किया टीएलटीआरओ का एलान, जानिए क्‍या है इसका मतलब

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि ऑन-टैप टीएलटीआरओ का मकसद लिक्विडिटी को बढ़ाना है. इसका ग्रोथ पर सकारात्‍मक असर पड़ने की उम्‍मीद है.

आरबीआई की घोषणा का आपकी ईएमआई और एफडी रिटर्न पर क्या पड़ेगा असर?

ब्‍याज दरों को यथावत रखने का फैसला फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (एफडी) के निवेशकों के लिए अच्‍छी खबर है. बैंक एफडी की दरों को घटाने से बचेंगे.

ब्याज पर ब्याज मामला : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को जवाब के ल‍िए एक हफ्ते का वक्त दिया

इसके पहले कोर्ट ने लोन मोरेटोरियम के दौरान ईएमआई पर ब्याज के ऊपर ब्याज मामले में 5 अक्‍टूबर को सुनवाई करने के लिए कहा था. सरकार ने इस पर सुप्रीम कोर्ट से कुछ और समय मांगा था. कोर्ट ने इसकी इजाजत दी थी.

लोन मोरेटोरियम न लेने वालों को भी मिलेगी राहत, जानिए कैसे

अधिकारियों ने बताया कि बड़ी संख्‍या में लोगों ने छह महीने के मोरेटोरियम का फायदा उठाया है. लेकिन, कुछ लोगों ने सीमित समय के लिए ऐसा किया. कई ने तो कुछ दिनों के लिए अपनी ईएमआई को टाला.

नहीं देना होगा कर्ज के ब्याज पर ब्याज, मोरेटोरियम पर केंद्र सरकार ने दी बड़ी राहत

केंद्र सरकार की तरफ से लोन लेने वाले रिटेल कर्जदारों और छोटे व मध्यम उद्यमों को मिली रही है. बैंक लोन मोरे​टोरियम पर लगने वाले चार्ज की वसूली नहीं करेंगे.

बाइक के लिए प्रति 1,000 रुपये लोन पर सिर्फ ₹36 ईएमआई, आईसीआईसीआई बैंक दे रहा ऑफर

आईसीआईसीआई बैंक बुनियादी के साथ लग्‍जरी आइटम खरीदने के लिए लोन पर डिस्‍काउंट, कैशबैक, रिड्यूस्‍ड ईएमआई और प्रोसेसिंग फीस दे रहा है. यह रिटेल के साथ बिजनेस कस्‍टमर्स दोनों के लिए उपलब्‍ध है.

सेकेंड हैंड कार खरीदने के लिए कैसे लोन ले सकते हैं आप?

ऐसा लोन लेने से पहले आपको कुछ चीजों का ध्‍यान रखने की जरूरत है. उदाहरण के लिए आपको पता लगाना चाहिए कि क्या बैंक/वित्‍तीय संस्‍थान सेकेंड हैंड कार के लिए लोन देने के लिए तैयार है या नहीं.

एसबीआई ने लॉन्‍च की धमाकेदार स्‍कीम, ब्‍याज पर डिस्‍काउंट के साथ प्रोसेसिंग फीस माफ

देश का सबसे बड़ा बैंक इसका फायदा अपने डिजिटल बैंकिंग प्‍लेटफॉर्म योनो के जरिये देगा. स्‍कीम के तहत आने वाले त्‍योहारी मौसम में योनो के माध्यम से कार, गोल्‍ड और पर्सनल लोन के आवदेकों को बैंक प्रोसेसिंग फीस पर 100 फीसदी की छूट देगा.

लोन मोरेटोरियम मामले में सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई 5 अक्‍टूबर को, केंद्र ने मांगा समय

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने लोन के रिपेमेंट के लिए मोरेटोरियम को 28 सितंबर तक बढ़ा दिया था. सोमवार को मामले की सुनवाई थी. लेकिन, केंद्र सरकार ने अनुरोध किया कि वह इस मामले में कुछ और समय चाहती है.

Load More...

हमें फॉलो करें


ईटी ऐप हिंदी में डाउनलोड करें


Copyright © 2020 Bennett, Coleman & Co. Ltd. All rights reserved. For reprint rights: Times Syndication Service

BACK TO TOP